Recent Posts


Computer Ka Full Form कम्प्यूटर का अविष्कार प्रकार विशेषताए

दोस्तों अगर आप एक Student है , या फिर आपने कोई Computer का कोर्स कर रहे है तो उसमे आपको "Computer Ka Full Form" जरूर पूछा होगा। और आपने पढ़ा भी होगा,  अगर आप एक स्टूडेंट है और आप Computer से Related कोई भी Course करना चाहते है तो ये Post आपके लिए बहुत ही Important है।  यह Question Competition Exam में भी कई बार पूछा गया है। कम्प्यूटर की परिभाषा क्या है कम्प्यूटर अविष्कार किसने किया  प्रकार पीढ़ियां विशेषताएं पूरी जानकारी हिंदी में 


Computer ka full form
Computer ka full form


इस Post में में आपके सभी  क्लियर  हो जायेंगे इसमें में आपको Computer से सम्बंधित पूरी जानकारी दूँगा।  अगर आप एक Student  है तो आपको अगर इसके Notes चाहिए तो आप हमसे कमेंट कर के नोट्स पा  सकते है।  चलिए अब देर न करते हुए शुरू करते है।


    Computer Ka Full Form -

     अगर आप Google पर Search करते है तो आपको Computer के बहुत सारे अलग -अलग फुल फॉर्म देखने में मिल जायेंगे। मुझे नहीं लगता की कम्प्यूटर का कोई फुल फॉर्म भी होना चाहिए।  क्योकि Computer वर्ड की उत्पति हुई है , Computer  एक लैटिन भाषा के शब्द  "Compute " से लिया गया है। 

    लेकिन लोगों में अपने तरीके से कम्प्यूटर के part को जोड़कर ही उसका Full Form बता दिया गया है। कई बार यह हमें प्रतियोगिता परीक्षा में पूछा जाता है।  तो मेने आपके लिए फुल फॉर्म लेके आया हूँ।  में आपको Actual फुल फॉर्म बताने जा रहा हूँ जो सभी Exam , और Computer Course  करने पर आपको बताया जाता है।

         वाई  फाई का फुल फॉर्म क्या होता है 

    Computer का Full Form  होता है -

    C =  Commonly (आमतौर पर)
    O = Operated (संचालित)
    M = machine (मशीन)
    P = Particularly (विशेष रूप से)
    U = Used For (के लिए इस्तेमाल होता है)
    T = Teaching (शिक्षण)
    E = Education  (शिक्षा)
    R = Research  (अनुसंधान/खोज )

    Computer को Programming Machine भी कहते है, क्योकि यह प्रोग्राम्स की Help से कोई भी वर्क को complete करता है , यह यूजर के द्वारा Input किये गए Data को Process करके Output में Produce करता है। जिससे User को समझने में आसानी होती है।

    Computer Word शब्द के अन्य  Full Form -

    • Common Operating Machine Particularly Used for Trade Education And Research 
    • Complicated Office Machine Put Under Tremendous Effort to Reduce Manpower
    • Capable Of Making Perfectly Uncomplicated Tasks Extremely Rigorous 
    • Commonly Operated Machine Particularly Used In Technical Education and Research 
    • Commonly Oriented Machine Particularly Used For Trade Education And Research 
    • Computing Oriented Manipulation Programming Used in Technology Education and Research
    • Common Operating Machine Particularly Used for Training Education and Reporting
    • Common Operating Machine Particularly Used for Trade, Education and Research 
    • Common Operations Made Possible Under Technical Engineering Researches
    • Commonly Operations Particularly Used for Technical and Education Research 

    Computer क्या है  What is Computer 

    Computer एक मशीन है , जो  निर्देशों के अनुसार कार्य करता है (User के द्वारा दिया गया Input डाटा को Process करके यह Result Provide करता है ) यह एक ऐसा Electronic यंत्र है जिसको Design किया गया है। कुछ Important Information के साथ में काम करने के लिए इसको बनाया गया।

    Computer एक ही समय में बिना गलतियाँ करें ही कई समस्याओं को कुछ ही Second में जल्दी से हल कर देता है , किसी भी प्रकार की कठिन -कठिन आकड़ों को हल कर देता है।  यह यंत्र बड़ी संख्याओं को जैसे जोड़ना , घटना , भाग , गुना , division निकलना  जैसे  बड़े -बड़े आंकड़ों को जल्दी ही हल करने की क्षमता होती है। 

    Computer की Memory में  बहुत लम्बे समय तक Data को store करके रखने की क्षमता होती है।  Computer एक Machine है तो निर्जीव वस्तु होने के बावजूद भी यह एक व्यक्ति के जैसे ही  कार्य करता है।  Computer की खोज मुख्य रूप से गणना करने जैसे कार्यो के लिए इसका बनाया गया।

        BTC का फुल फॉर्म क्या होता है  B.ED करे या BTC

    इसलिए इसको हम  हिंदी भाषा में "संगणक" के नाम से जाना जाता है।  

    Computer की परिभाषा  

    Computer  एक लैटिन भाषा के शब्द  "Compute " से लिया गया है ,जिसका अर्थ होता है गणना करना (Calculation )  करना इसका मुख्य रूप से 3 काम होते है , इसके बाद ही यह User को Result Show करता है। पहला Data को लेना (Fetch ) जिसे हम Input कहते है , दूसरा उस Data को प्रोसेस करना होता है , और  तीसरा  काम उस डाटा को इनपुट और प्रोसस् करने के बाद Output करना (Display ) करता है। 

    सरल शब्दो में " Computer एक ऐसी machine है जिसका यूज़ हम विभिन्न प्रकार की Logical Calculation के लिए इसका उपयोग किया जाता है , जो Data को Input करता है उसे Store करता  है , और यूजर द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार उसे Process करता है , और हमें Use Data का Output प्रदान करता है "

    Computer का अविष्कार किसने किया ?

    Computer का अविष्कार किसने किया  Computer के जनक "चार्ल्स  बैबेज " (Charles Babbage ) जो की एक British  गणितज्ञ थे।  चार्ल्स बैबेज का जन्म 26 नवम्बर 1791 को हुआ था, यह एक Analytical Engine के अविष्कार करने के बाद से इनको  "कम्प्यूटर का पिता " Father Of Computer कहा जाता है।

    computer ka avishkar kisne kiya
    image : Wikipedia


    आज के आधुनिक Computer युग की शुरुआत के साथ ही Computer में Memory  आज के समय में सबसे बड़ी आवश्यक्ता बन गयी है। ENIAC (Electronic Numerical, Integrator, And Computer) यह पहला इलेक्ट्रॉनिक Computer था।  इससे ही Electronic कम्प्यूटर के युग की शुरुआत हुई।  जिनको Electronic कम्प्यूटरों को पांच पीढ़ियो में विभाजित किया गया है। 

    चार्ल्स  बैबेज ने सन 1822 में इन्होने पहला  Mechanical Computer बनाया था , जिसके आधार  पर आज के सभी कंप्यूटर Work कर रहे है , इसी वजह से ही चार्ल्स  बैबेज को कम्प्यूटर का जनक कहा जाता है। ऐसे में उन्होंने गणित के बड़ी बड़ी संख्याओं को हल करने  के लिए उन्होंने Computer को बनाया।


    GOOGLEका फुल फॉर्म GOOGLE को किसने बनाया

    Computer की पीढियां  Generation Of  Computer 

    Computer का विकाश कब से हुआ यह हम इनकी पीडियों ( Generation )के द्वारा ही आसानी से समझ सकते है जो मुख्य रूप से पांच भागो में विभाजित किया गया है।  जो निम्न प्रकार है- 

    पहली पीढ़ी 1946  -1959  -

    पहली पीढ़ी के कम्प्यूटरो में Vaccum Tubes को Circuitry और Magnetic Drum को Memory के लिए  उपयोग किया जाता  था।  और इनका आकर भी बहुत बड़ा हुआ करता है , ज्यादा बड़े होने के कारन इसमें heat (गर्म ) होने की ज्यादा समस्या आती थी।  जो Computer में गणना संबधी काम के लिए  संभव था।

    computer ka full form
    image : Wikipedia


    यह मशीन बहुत ही भरी Machine के  सामान था , जिसे चलाने के लिए लगभग 160 से 170 किलोवाट विधुत की आवश्यक्ता होती थी।  इस पीढ़ी के Computer के नाम इस प्रकार है -

    • ENIAC
    • ED-VAC
    • UNI-VAC
    • IBM-701
    • IBM-650


    दूसरी पीढ़ी 1959 -1965 

    इस पीढ़ी के Computer में Transistor का उपयोग किया जाने लगा था , Vacuum Tube के स्थान पर Transistor का उपयोग किया गया।  Transistor  बहुत ज्यादा विश्वसनीय थे और आकर में छोटे  और बिजली की कम खपत करते थे।  और यह Vacuum Tube की तुलना में इनकी Speed भी बहुत अच्छी थी।  और इस Generation में असेम्बल Language और High लेवल Language और COBOL का प्रयोग होता था।

    Computer kya hai
    image : Wikipedia

    • UNI-VAC 1108
    • IBM 7094
    • CDC 1604
    • CDC 3600


    तीसरी पीढ़ी 1965 -1971  

    यह पीढ़ी के कंप्यूटर में (IC) "Integrated Circuit " पर आधारित था , तीसरी पीढ़ी के Computer में Transistor के स्थान पर IC का यूज़ किया गया।  IC का अविष्कार "जैक किल्बी"  के द्वारा किया गया था।  जिसमे एक ही IC में कई प्रकार के Transistor , Raster और कैपिसिटर होते थे।

    COMPUTER KA FULL FORM
    image : Wikipedia
    • TDC - 316 
    • IBM 168/370
    • Honeywell - 6000 series
    • PDP (Personal Data Processor)

    चौथी पीढ़ी  1971- 1980

    इस पीढ़ी के Computer  (VLSI)  Microprocessor पर आधारित थे , चौथी पीढ़ी के Computer अधिक शक्तिशाली Compact , अधिक विश्वसनीय और सस्ते हो गए थे।  इस पीढ़ी के Computer में बहुत बड़े पैमाने में एकीकृत (VLSI) सर्किट का इस्तेमाल किया गया।

    computer ka full form
    computer ka full form


    यही पीढ़ी ने पर्सनल कम्प्यूटर के अधिक सक्रीय किया इस पीढ़ी से Personal Computer का जन्म हुआ।  इस सभी High Laval Language का प्रयोग किया गया जैसे - C  C ++ , Data  Base इसी पीढ़ी के कम्प्यूटरों से प्रयोग की जाने लगी। 

    • CRAY-X-MP (Super Computer)
    • CRAY-1 (Super Computer)
    • STAR 1000 

    पांचवी पीढ़ी 1980 से अब तक  

    पाँचवी पीढ़ी के Computer ULSI माइक्रोप्रोसेसर पर आधारित है।  इस पीढ़ी में Computer ऐसे बन रहे जो , एक  इंसान  तरह सोचते है।  इस पीढ़ी के Computer में कृत्रिम बुद्धि का विकास किया गया, जिसको आर्टिफिसियल इंटेलिजेन्स भी कहा जाता है।  इनमे सरे High Level Launguge की प्रयोग की जाने लगी।  जैसे - C , C++ , Java , VB.net आदि भाषा  प्रयोग किया  जाता है।

    Computer ka full form
    image : Wikipedia
    • Desktop 
    • Laptop 
    • NoteBook 
    • UltraBook  

    कम्प्यूटर के प्रकार (Types Of Computer )


    जब भी हम Computer के प्रकार की बात करते है तो हमें Desktop , Laptop ,और  NoteBook आदि के बारे में ही सोचते है।  और यह हर कोई  सोचता है।  लेकिन कम्प्यूटर की दुनिया में Computer को 5 प्रकार में divide किया गया है।  इन सभी कम्प्यूटरों को हम इनके Size , Purpose , Modernity  , Application  आदि के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

    कार्यप्रणाली के आधार पर  (Functional )

    1. Analog Computer

     Analog Computer वे Computer होते है , जिनका उपयोग भौतिक इकाइयों को मापने के लिए Analog Computer  का उपयोग किया जाता है।   जैसे दाब , तापमान , लम्बाई , इत्यादि  इनको मापकर इनको अंको (Numbers ) में परिवर्तित किया जाता है।  ये Computer किसी भी इकाई की माप  तुलना के आधार पर ही किया जाता है।

    computer ka aviskar kisne kiya
    image : Wikipedia


    Analog Computer  का उपयोग मुख्य रूप से Science , इंजीनियरिंग  के क्षेत्रों में किया जाता है क्योकि में अधिकतर मात्राओ का अधिक प्रयोग किया जाता है।  इस प्रकार के Computer केवल अनुमानित अनुमान ही देते है।  जैसे - Analog Computer  किसी भी पेट्रोल पम्प पर लगा Computer  पम्प से निकलने वाला पेट्रोल की मात्रा को मापता है और लीटर में Show करता है।  और उसकी कीमत बताता है।

    2. Digital Computer 

    Digital Computer  वे Computer होते है , जिनमे अंको (Numbers ) की गणना करते है।  अगर कोई व्यक्ति जब भी Computer की बात करता है , उस का केंद्र बिंदु Digital Computer की और ही संकेत करता है।  जो हम आसानी से हर जगह देखते आ रहे।  जैसे School , College , घर में , Office , अन्य सभी प्रकार के कार्य जिसमे किया जाता है वह Digital Computer की श्रेणी में ही आते है।

    computer ka full form
    image : Wikipedia

    Digital Computer Data और प्रोग्राम को 0 से 1 में परिवर्तित करके उसको इलेक्ट्रॉनिक रूप में परिवर्तित करते है। 

    3. Hybrid Computer 

    Hybrid Computer में Digital Computer और Analog Computer इन दोनों कम्प्यूटरों के गुण  विधमान होते है, इसलिए इन्हे Hybrid Computer कहते है। ये Computer अधिक विश्वसनीय होते है इन कम्प्यूटरों का उपयोग जायदातर हॉस्पिटल में होता है। 

    Computer ka full form
    image : Wikipedia

     उदा. जब Analog Computer की Device किसी रोगी के लक्षणों जैसे उसका तापमान या रक्तचाप Calculate करती है। तो ये मापने के बाद Digital Computer पार्ट्स के द्वारा अंको (Numbers ) में बदल दिए जाते है।  इस प्रकार किसी भी रोगी के हेल्थ में आये उतार चढ़ाव का सही और सटीक तरह से पता लगाया जाता है। 

    उद्देश्य के आधार पर (General purpose )

    1.  सामान्य उद्देश्य के आधार पर     

    आज के समय में जो Computer हम उपयोग कर रहे है , वह सभी Computer General Purpose Computer ही है।  General Purpose Computer एक ऐसा Computer होता है जो कई प्रकार के कार्य करने की Capacity  रखता है। इस कंप्यूटर को आप घर , Office आदि के अपने हिसाब से बना सकते है।  इस कम्प्यूटर पर आप आपने दैनिक जीवन से सम्बंधित कार्य आसानी से कर सकते है।


    आप अगर एक बिजनिस मैन है , या Student , Reasearch करने , project तैयार करने  जैसे काम के लिए यह Computer बहुत अच्छे है।  इनमे जो Computer आते है वो इस प्रकार है , Desktop , Laptop , NoteBook यह Computer सामान्य उद्देश्य के कंप्यूटर है।  

    2 .  विशेष उद्देश्य के आधार पर 

    यह  Special Purpose Computer जैसा की नाम से ही हमें पता चलता है की यह Computer की विशेष उद्देश्य के कार्य करने लिए  इनको Develop किया जाता है।  जैसे इनका कार्य होता है ,  जैसे मौसम की भविष्यवाणी करना इनके लिए Special Purpose के Computer का उपयोग किया जाता है।  

    यह Computer सामान्य उद्देश्य के Computer की तुलना में काफी अधिक तेज होते है।  लेकिन इन कम्प्यूटरों में हम अलग -अलग प्रकार के कार्य नहीं कर सकते है।  जैसे हम General Purpose के Computer पर कर सकते है, इन कम्प्यूटरों को एक विशेष कार्य के लिए ही बनाया जाता है। 


    आकर के आधार पर (size )

    1.  माइक्रो कम्प्यूटर (Micro Computer )

    Micro  Computer बहुत ज्यादा तेजी से  और बहुत व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला computer है।  यह Computer  तरह के Computer से सस्ता एवं हल्का होता है।  इनका साइज बहुत छोटा होता है, इन Computer को हम आसानी से कंही भी ले जाया जा सकता है।  इन कम्प्यूटरों को सामान्य कार्यो करने के लिए इनका यूज़ किया जाता है। 

    computer ka full form
    image : Wikipedia

    जैसे - शिक्षा , घर , कार्यालय , इस प्रकार के कार्यो में अधिक उपयोग किया  जाता है।  PCs , Notebook , Laptop ,आदि Micro Computer में आते है। 

    2. वर्क स्टेशन (work Station) 


    computer ka full form
    image : Wikipedia

    यह Computer आमतौर पर किसी Network से जुड़ा होता है।  उसे ही  Work Station Computer कहते  है। 
    यह Computer micro Computer से अधिक तेजी से कार्य करता है। 

    3. सुपर कंप्यूटर (Super Computer )


    computer kya hai

    Super Computer मल्टी यूजर  और मल्टी प्रोसेसर और बड़े Computer होते है , यह बहुत ज्यादा मजबूत और इनकी बहुत ज्यादा Efficiency होती है।  यह Super Computer सबसे Fast  सबसे ज्यादा महंगे होते है। इन कम्प्यूटरों का उपयोग काम्प्लेक्स Science , Engineering प्रॉब्लम्स को हल करने के लिए किया जाता है। 

    4. Main Frame Computer 

    यह कम्प्यूटर दिखने में बहुत ज्यादा बड़े होते है , यह बहुत हद तक सुपर कम्प्यूटर की जैसे ही होते है , Super Computer और Mainframe कम्प्यूटर में जो अंतर है वो  इस प्रकार है की Super Computer अपनी सभी Raw पावर का यूज़ करता है , और  कुछ Task Complete करता है।

    computer kya hai
    image : Wikipedia

    और mainframe Computer में बहुत सारे कार्यो को एक साथ ही करने के लिए ही इसका इस्तेमाल होता है। 

    5. मिनी कम्प्यूटर  Mini Computer - 

    ये भी एक Multi  यूजर कम्प्यूटर है ,इसमें ही एक साथ बहुत से लोगों  का काम करने में  सहायक होते है।  ये Micro Computer की तुलना में अधिक महंगे होते है।  Mini Computer का यूज़ Business , Organizations में  ज्यादा उपयोग किया जाता है।  जंहा बहुत ज्यादा कॉम्प्लेक्स Data को प्रोसेस करने के लिए इनका उपयोग किया जाता है। 

    computer kya hota hai
    image : Wikipedia

    मिनी कम्प्यूटर  बड़े और ज्यादा पावरफुल कंप्यूटर होते है , और साथ में इनका यूज़  Scientific Research , Instrumantation  System , Industrial Process Monitoring और Control करने में भी इन कम्प्यूटरों का उपयोग किया जाता है। 

    6. Palmtop Computer 

    आज के समय में लोगों को   जैसे - जैसे  Computer के बारें में जानकारी हुई इनके कारण कंप्यूटर का ज्यादा उपयोग किया जाने लगा।  इस लिए Scientists लोगों में कुछ इस प्रकार के Computer के बारें में Research  करि की जिससे लोगों की जरुरत   को आसानी से पूरा किया जा सके।

    computer kya hota hai
    image : Wikipedia

    उसके बाद में Palmtop Computer को विकसित किया गया इसका इस्तेमाल उस एरिया में भी किया जा सकता है , जंहा Electricity (बिजली ) नहीं है।  इनका use  अधिकतर Higher Authorities , Social workers , Research  करने  के लिए बनाया गया जंहा पर बिजली न हो वंहा पर भी उसका उपयोग कर सकते है।  इसको हम अपनी हथेली में रखकर इसको चला सकते है। 

    7. लैपटॉप  Loptop Computer 

    इनका नाम  तो आपने सुना ही होगा , यह Computer बहुत ही छोटे होते है Portable कम पावर की कम खपत करते है। और इनमे सभी प्रकार की सुविधा रहती है जो की एक Desktop Computer में होते है।  जंहा Desktop Computer में हम जयदा हार्ड वर्क को पूरा कर सकते है लेकिन हम Laptop Desktop की तुलना में कम Processing करने में इनका  उपयोग किया जाता है।

    computer ka aviskar kisne kiya


    ये Computer पूरी तरह से battery से Operate होते है।  और इनकी Storage  क्षमता भी  परसनल कम्प्यूटर की तुलना में कम होता है।  लेकिन हम Laptop कम्प्यूटर  को आसानी के साथ कंही भी साथ में ले जाया जा सकता है। 

    आधुनिक कम्प्यूटर (Modern computer)

    1. Smartphone 


    computer ka aviskar kisne kiya
    smartphone

    दोस्तों आज कल  हम जिसे 4G  मोबाइल के नाम से जानते है उसी फ़ोन की बात कर रहे है , इसे मुख्य तोर पर  इसे Smartphone कहा जाता है।  इसमें हम Computer के लगभग 90 % कार्य इस फ़ोन से भी किया जा सकते है।  इसमें आप Internet Browsing , गेम, Documents , Calculation , Audio , Video Editing , Photo Editing इस प्रकार के काम इस फ़ोन में आसानी के साथ पूर्ण किये जा सकते है।

    2. Wearables 


    computer ka aviskar kisne kiya
    image: wikipedia 

    Wearables  का मतलब होता है , आपने देखा ही होगा घडी (Smartwatch ) के नाम से जानते है , ऐसे उपकरण जिसे हम अपने शरीर के किसी विशेष अंग में पहन सकते है।  ऐसे Device किसी एक विशेष कार्य को पूर्ण करने के लिए Design किया जाता है।  जैसे - smartwatches , Fitness Trackers और Wearable Computer इत्यादि।


    3 . Smart TV 


    computer ka aviskar kisne kiya
    smart tv

    आजकल Smart TV का प्रचलन बहुत ज्यादा ही चल रहा है , जिसमे हम उसमे You-tube , Android  Application , Browser , TV पर हम Online बहुत सारे काम कर सकते है। और Netflix , में अपनी मन पसंद की show , Movies इत्यादि आसानी के साथ देख सकते है।


    Computer की विशेषताएं (Characteristics Of  Computer )

    Computer की बहुत सारी खुबिया है यह  अनेक प्रकार के Work को ये कार्य के अनुसार पूर्ण शुद्धता के साथ पूरा करता है।  जैसे -

    1.  Speed (गति ) 

    Computer की गति बहुत ही तेज है , यह मानव द्वारा  1 साल में पूर्ण किया जाने वाला काम यह कुछ ही समय में हल कर देता है।  Computer 1 Second में लाखों गणनाये कर सकता है , Computer की Processor के Speed को (Hz) हर्ट्ज़ में मापते है।  वर्तमान समय के Computer तो और भी Advance हो चुके है यह Computer नैनो सेकन्ड में गणनाये करने की क्षमता रखता है। 

    2. Accuracy (शुद्धता )

    Computer द्वारा की जाने वाली गणनाये पूर्ण तरह सही होती है , अगर प्रोग्रामर द्वारा गलत Coding की जाती है तो तब ही Computer गलत गणनाये कर सकता है।  तो हम इसे भी मानव की हो गलती कह सकते है। 
    क्यूकी Computer एक मानव द्वारा ही बनायीं जाती है।  

    3. Storage (भण्डारण क्षमता )

    Computer में दो प्रकार की मेमोरी का उपयोग किया जाता है , permanent Storage और External मेमोरी  जिसके द्वारा Data का आदान -प्रदान किया जाता है। क्युकी Computer में जानकारी Electronic तरीको के द्वारा Store की जाती है।  क्योकि सूचनाओं के समाप्त होने के सम्भावना कम होती है। 

    Computer में हम अलग से मेमोरी का उपयोग कर सकते है जैसे External एंड Internal  और अन्य आंतरिक स्टोरेज माध्यम जैसे (Hard Disk , Flo-phi Disk , Magnetic Tap , CD ROM , डीवीडी राइटर ) इनका उपयोग हम Data को स्टोर करने के लिए अलग से उपयोग किया जा सकता है।  Unlimited Data स्टोर किया जा सकता है। इनकी स्टोरेज क्षमता बहुत ज्यादा होती है। 

    4. Versatility (विविधता )

    Computer में विभिन्न प्रकार के कार्य पूर्ण कर सकते है  वर्तमान समय के कम्प्यूटरों में हम अलग-अलग प्रकार के Work हम एक ही समय में आसानी के साथ पूरा कर सकते है। 

    5. Repetition (पुनरावृत्ति )

    Computer को हम कमांड देकर एक ही कार्य को बार -बार शुद्धता और तीव्रता के साथ कराये जा सकते है। 

    6. Quick Decision (तीव्र निर्णय लेने की क्षमता )

    Computer में निर्णय लेने की क्षमता बहुत तीव्र होती है , और यह पूरी तरह शुद्ध होते है। 

    7. Privacy (गोपनीयता )

    हम अपने Computer को सुरक्षित रखने के लिए पासवर्ड का प्रयोग कर सकते है , Computer में Password का उपयोग करके हम अपनी परसनल Data को सुरक्षित कर सकते है।  और Computer में रखे डाटा को केवल पासवर्ड डालने वाला ही व्यक्ति देख सकता है। 

    8. Uniformity Of Work (कार्य की एकरूपता )

    Computer बार बार एक ही कार्य लगातार करने के बाद भी Computer के कार्य में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आती है।  उसमे किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आती है।  

    निष्कर्ष (Conclusion )

    आज "Computer का Full Form और Computer के बारे में बेसिक Information जैसे Computer क्या होता है , Computer के प्रकार , Computer की विशेषताएं क्या है।"  और कंप्यूटर सब्द से related और अन्य Full फॉर्म्स की जानकारी आपको पूरी तरह हो ही गयी होगी।


    अगर आपको इस "Post के पीडीऍफ़ Notes" चाहिए तो आप हमें Comment  section में आप मुझसे संपर्क कर सकते है।  अगर आपको कोई Friend "PGDCA , DCA या फिर BCA "का कोर्स कर रहे है या करने वाले है तो आप  इस पोस्ट को शेयर कर के अपने Friend की हेल्प कर सकते है।




    Post a Comment

    0 Comments